Breakup Shayari

Baat na Karne ki shayari New Shayari [2019]

Baat na Karne ki shayari New Shayari
Written by admin

Baat Na Karne ki shayari:- हम जबभी आपने दोस्तों, रिश्तेदारों , प्रेमिका या प्रेमी से नाराज़ होते हैं या हो जाते हैं तब हमे baat na karne ki shayari का प्रयोग करना पड़ता  हैं क्योकि आप अपनी  बातो को सीधे उनसे नही बोलते हैं तब हम अपनी बातो और  नाराज़गी हो शायरी के मध्याम से उनतक पहुचाते हैं |तो  दोस्तों आज हम आपके लिए कुछ कैसी ही शायरिया ले कर आये हैं जो की आप अपनी प्रेमिका को भेज सकते हैं और साथ ही साथ अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को भी भेज सकते हैं ||

Baat Nahi Hoti shayari

 

बातें तो हर कोई समझ लेता है,
मगर हम वो चाहते है जो हमारी ख़ामोशी को समझे

 

उससे ऐसा भी क्या रिश्ता है
दर्द कोई भी हो याद उसी की आती है

 

मोहब्बत का कोई कसूर नहीं
उसे तो मुझसे रूठना ही था
दिल मेरा शीशे सा साफ़
और शीशे का अंजाम तो टूटना ही था

 

रूबरू होने की तो छोङिये, लोग गूफ्तगू से भी कतराने लगे हैं…
गुरूर ओढे हैं रिश्ते, अपनी हैसियत पर इतराने लगे हैं

 

मत पूछो कैसे गुजरता है हर पल तुम्हारे बिना,
कभी बात करने की हसरत कभी देखने की तमन्ना

 

नफ़रत हो जायेगी तुझे अपने ही किरदार पे,
अगर में तेरे हि अंदाज मे तुझसे बात करुं

 

कभी पीठ पीछे आपकी बात चले तो घबराना मत,
बात उन्हीं की होती है, जिनमें कोई बात होती है

 

बेगानों से गुजर जाते है कोई बात नहीं होती,
हम उनसे रोज मिलते हैं मगर मुलाक़ात नहीं होती,
सूखे बंजर खेत जैसी जिंदगी बेहाल है,
घटाएं घिर तो आती है मगर बरसात नहीं होती..

 

Aap Baat kyu Nahi karte shayari

 

अपनी किश्मत उतनी रखिये जितनी अदा हो सके
अगर अनमोल होगये तो तनहा हो जाओगे

 

बदलना नहीं आता हमें मौसम की तरह,
हर एक रूप मैं तेरा इंतज़ार करता हूँ ||
ना तुम समझ सको कयामत तक,
कसम तुम्हारी तुम्हे इतना प्यार करते है ||

 

तेरा उल्फत कभी नाकाम न होना देंगे,
तेरी दोस्ती कभी बदनाम न होना देंगे ||
मेरी ज़िंदगी मैं सूरज निकले या न निकले,
तेरी ज़िंदगी मैं कभी शाम न होने देंगे ||

 

उसके सिवा किसी को चाहना मेरे बस में नहीं
ये दिल उसका है अपना होता तो बात और थी

 

जिस शाम बरसते है तेरी याद के बादल,
उस वक्त कोई भी हिजर का तारा नहीं होता ||
यु ही मेरे पहलु मैं चले आते हैं अक्सर,
वो दर्द जिन्हे मैने कभी पुकारा नहीं होता ||

हम आप के लिए कुछ ऐसी शायरिया पेश करने जा रहे हैं जो आप अपनी प्रेमिका और प्रेमी को ही भेज सकते है यदि वो आप से नाराज़ या गुस्सा हैं इन शायरियो से वो आप से जरुर बात करना प्रारंभ कर देंगे और नाराज़गी ख़तम हो जाएगी||

baat karne ki shayari

 

तुझ से दूर रहकर…. मोहब्बत बढती जा रही है
क्या कहूँ… कैसे कहूँ… ये दुरी तुझे और करीब ला रही है

 

ख्वाहिश-ए-ज़िंदगी बस
इतनी सी है अब मेरी,
कि साथ तेरा हो और
ज़िंदगी कभी खत्म न हो

 

मैंने तो सिर्फ तुझ से मोहब्बत करने की दुआ मांगी है,
मैंने तो हर दुआ में सिर्फ तेरी वफ़ा मांगी है,
ये ज़माना लाख जले हमारी मोहब्बत से,
मैंने तो सिर्फ तुझसे मोहब्बत करने की सजा मांगी है।

 

बहुत सुकून मिलता है जब उनसे हमारी बात होती है,
वो हजारो रातों में वो एक रात होती है,
जब निगाहें उठा कर देखते हैं वो मेरी तरफ,
तब वो ही पल मेरे लीये पूरी कायनात होती है।

Baat na Karne ki shayari

 

उदास लम्हों की न कोई याद रखना,
तूफ़ान में भी वजूद अपना संभालें रखना,
किसी की जिंदगी की खुशी हो तूम,
बस यही सोच तूम अपना ख्याल रखना।

 

हजारों मंजिले होगी हजारों कारवाँ होंगे
निगाहें हमकों ढूढेगी, पता नही हम कहा होंगे

 

सिर्फ चाहा ही नही तुझको पाना चाहता हूँ
दुःख द्रर्द जिन्दगी का बांटना चाहता हूँ

 

कुछ तो ख्याल करो अपना कोई गम ना करो
तुम शोख जवानी पर कुछ तो रहम करो

नोट:- Latest Shayari पाने के लिए हमारेFacebook pageको like करे. अगर आपको Baat na Karne ki shayari शायरी पसंद आये तो इसे अपनी प्रियजनों को शेयर करे. धन्यवाद्

About the author

admin

Leave a Comment