Breakup Shayari

Pyar me dhoka shayari || pyar me dhoka shayari in hindi

Pyar me dhoka shayari
Written by admin

Pyar me dhoka shayari प्रेम के बिना जीवन क्या है? पूरे विश्व में हर किसी ने अपनी विविध भावनाओं के माध्यम से, इसके कई अवतारों में प्रेम को देखा है। प्यार एक खुशी हो सकती है, प्यार एक दर्द हो सकता है- फिर भी प्यार के रूप में असली कुछ भी नहीं है। जैसा कि हम प्रकृति के वसंत और प्रेम की सुबह का जश्न मनाते हैं

चाहे आप इसे पूरी तरह भावना के साथ महसूस करें, प्यार आपको अनुभव करना है और इसके सभी शानदार बदलावों का जश्न मनाना है।

लेकिन जब भी आप को प्यार मे धोका मिलता हैं तो आप का दिल बहुत ही बुरी तरीके से टूट जाता हैं प्यार जैसे चीज़ों से विसवास उठ जाता हैं प्यार के नाम से नफरत ही हो जाती हैं

तो आज हम आप सभी के लिए ऐसे ही Pyar me dhoka shayari ले  कर आए हैं जिनको पढ़ने से आप  टूटे दिल    तो नही जुड़ सकते हैं पर कुछ राहत तो  जरूर मिलेगी

Pyar me dhoka shayari  ऐसे कई लोग हैं जो प्यार, गर्लफ्रेंड, बॉयफ्रेंड, फ्रेंड के लिए हिंदी में धोका शायरी खोज रहे हैं। क्योंकि वे अपने साथी की वजह से दुखी हैं। तो उस समय इसे हिंदी में प्यार के लिए धोका शायरी और फेसबुक पर धोका शायरी और गर्लफ्रेंड और फ्रेंड्स के लिए फेसबुक पर पोस्ट करने या व्हाट्सएप स्टेटस पर दुखद अशोक शायरी अपलोड करने की आवश्यकता होती है।

pyar me dhoka shayari in hindi

 

आपकी आँखे अक्सर वही लोग खोलते है-
जिनपर आप आँखे बंद करके विश्वाश करते है

 

पल पल उसका साथ निभाते हम
एक इशारे पे दुनिया छोड़ जाते हम
समुन्द्र के बीच में पहुच कर फरेब किया उसने
वो कहता तो किनारे पर ही डूब जाते हम

 

टुटा हो दिल तो दुःख होता है
करके मोहब्बत किसी से ये दिल रोता है
दर्द का अहसास तो तब हो
और उसके दिल में कोई और होता है

 

धोखा देती है अक्सर मासूम चेहरे की चमक,
हर काँच के टुकड़े को हीरा नहीं कहते

 

जानता था की वो धोखा देगी एक दिन पर चुप रहा
क्यूंकि उसके धोखे में जी सकता हूँ पर उसके बिना नहीं

 

धोखा भी बादाम की तरह है
जितना खाओगे उतनी अक्ल आती है

 

इश्क में इसलिए भी धोखा खानें लगें हैं लोग
दिल की जगह जिस्म को चाहनें लगे हैं लोग

 

मैंने खाया है चिरागों से इस कदर धोखा,
मै जल रहा हूँ सालों से मगर रौशनी नहीं होती

 

धोखा दिया था जब तूने मुझे.
जिंदगी से मैं नाराज था,

 

सोचा कि दिल से तुझे निकाल दूं.
मगर कंबख्त दिल भी तेरे पास था

 

कुछ लोग इतने गरीब होते है की,
देने के लिए कुछ नहीं होता तो धोखा दे देते है

 

खूब देखे होंगे आंसू ख़ुशी की तुमने
कभी मिलो हमसे , तुम्हे गम के हसी दिखाएंगे

 

जब धोखा ही था तुम्हारी मोहब्बत.
तो झूठ अपनी लबो को कहने देते.
और जब मै सुखी था, मुझे अपने बिना ही रहने देते

 

माना मेरा प्यार एकतरफा था
गुनाह भी मेरा था इसलिए दर्द भी मुझे मिला
पर बस इतना दे ए खुदा
जब वो पहले ही किसी और के थे
तो मुझे प्यार होना, क्यों जरुरी था

 

कितने मकसदो के साथ जी रहे थे हम
उस बेवफा ने धोखा क्या दिया
मेरी Life का हर मकसद
हमसे छीन लिया
सनम बेवफा

 

कोई दिक्कत नहीं है ignore करो
पर याद रखना टाइम सबका आता है

 

मैं मतलबी नहीं जो तुम्हे धोखा दे दू
बस इतना समझ लेना मैं तुम्हे समझ नहीं पाया

 

Tumhare Har Sawal Ka Jawab
Meri Aakho Me Tha
Or Tum Meri Juba
Khulne Ka Intazar Karte Rahe

 

Tumhe lagta hoga Na
Kitna Bura Hu Mai
lagne ki baat hai
Mujhe to khuda Lage The Tum

 

तू कभी मुझे मिले या न मिले
बस इतनी से दुआ है मेरी
तू जिसे भी मिले
तुझे उससे जिंदगी की हर ख़ुशी मिले

 

ज़िन्दगी में हमें दुख दिल टूटने पर
उतना नहीं होता जितना
विश्वास टूटने पर होता है,
क्योंकि हम किसी पर
विश्वास करके ही अपना दिल उन्हें देते हैं

 

कुछ लोग हमें ऐसे मिले
जो हमें अपना बना गए
और कुछ दोस्त ऐसे मिले
जो हमें पराया का मतलब बता गए।

 

तेरे लिए लड़ लिए इस दुनिया से ,
लेकिन हम हार गये
अपने इस बदनसीब किस्मत से।

pyar me dhoka shayari in hindi 2020

 

हर हीरा चमकदार नहीं होता,
हर समंदर गहरा नहीं होता…
दोस्तो जरा संभल कर प्यार करना,
हर खूबसूरत चेहरा वफादार नहीं होता…

 

Har Heera Chamakdar Nahi Hota,
Har Samandar Gahra Nahi Hota…
Doston Jara Samhal Kar Pyar Karna,
Har Khubsoorat Chehra Wafadar Nahi Hota 🙁

 

मेरी बर्बादी का इल्जाम ना आता तुझ पर जाना
उस शाम गली में गर मैं तुझसे ना टकराया होता
जख्म मिलते तुझे भी अगर इश्क़ में मेरी ही तरह
अश्क़-ए-लहू कुछ तेरी आँखों ने भी बहाया होता।

 

बहुत तलाश किया पर कहीं गुम हो गए वो…
ढूंढने की कोशिश की पर नहीं मिले वो,
मेने तो वफ़ाई की लेकिन.. उसके प्यार में शायद खोट था…
इसलिए तो किसी और के बाहों में खो गए वो।

 

और कोई तकलीफ दे
तो गुस्सा आता है पर,
जब कोई अपना तकलीफ दे
तो रोना आता है।😒

 

इरादा तो नहीं था किसी के
दिल को दुखाने का,
मोहब्ब्त तो सच्ची कि मगर
हालात के आगे मजबूर हो गए…
खैर अब ज़रिया किसे बनाएं इश्क में मिले
दर्द को छुपाने का।

 

प्यार में धोखा तब तब खायेंगे लोग,
प्यार जब जब दिल की जगह जिस्म से करेंगे लोग।

 

तुने भी वही किया जो सब करते हैं,
पास आया..
सपना दिखाया..
अपना बनाया..
और फिर बिना कसुर बीच रास्ते में ही छोड़ गए ।
❤💔❤

 

तुम खास थे इसलिए लड़े तुमसे,
पराये होते तो मुस्कुरा कर जाने देते।

 

एक गलती की थी मैंने, आज उसी की सजा पाई थी,
उसके यार ने ही सही, उसकी असलियत बताई थी,
वो दिखती है अब किसी ओर के साथ,
ये बात तुमसे नहीं, गैरों ने मुझे बताई थी !!

 

ऐ खुदा तू ईश्क ना करना, वरना बड़ा पछताएगा।
हम तो मर के तेरे पास आ जाते हैं,तू कहां जाएगा।

 

किसी ने मुझे ये सिखा दिया कि,
हद से ज्याद किसी को चाहना बुरी बात है ।

 

जीते जी मौत से रूबरू होना है
तो किसी बेवफा से मोहब्बत कर लो

 

इश्क किया था, अब चीखें भी गाएंगे,
तेरी बेवफाई का जिक्र ना उठे,
हम आँसू लेकर शहर मे मुस्कुराएंगे,

❤💔❤

दिवारों के पीछे क्या किरदार हूँ मै?
यह राज़ मेरे आंगन तक को नहीं पता है,
तुम बस इतना समझ लो इश्क मे बरबाद हो गया,
उसका नाम क्या था यह किसी और दिन बताएंगे,

 

कोई था क्या नशा तेरी आँखों के बराबर?
कोई होगा क्या नशा तेरे जाने के बाद?
सब ठीक तो था, बेवफाई करनी क्या जरुरी थी?
छोडिए अब उनका जिक्र, हम फिर कोई मयखाना पी जाएंगे ।।

pyar me dhoka shayari in hindi 2020

साथ जीने मरने का वादा था.
मर के भी साथ न छोड़ने का वादा था.
सारी बातों से तू मुखर क्यूँ गयी.
ए सनम तू मुझे धोका दे कर चली गयी.

 

चलो धोका ही था तुम्हारा इश्क.
सब झूठ था, तो झूठ अपनी जुबा को कहने देते.
मै खुश था, मुझे धोखे में ही रहने देते.

 

साथ रहना था ही नहीं तो
तुमने हमसे नाता क्यों जोड़ा.
हमे धोका देकर तुमने
हमे कही का नहीं छोड़ा.

 

धोका खा कर भी हम जिन्दा है.
तेरे दर्द के साथ भी हम जिन्दा है.

 

धोका तूने ऐसा दिया.
मेरी जिंदगी का हर मकसद
मुझसे छीन लिया.

 

दिल के दर्द को दिखाना बड़ा मुश्किल है.
धोका खा कर बताना बड़ा मुश्किल है.

 

न तुमको कोई ऐसा मौका देते की तुम धोका देते.
अच्छा होता बेडियो से बाँध कर
अपने गिरफ्त में रखते.

 

Yoon to koi bhi tanha nahi hota,
Chaah kar kisi se koi juda nai hota,
Mohabbat ko majbooriya hi le dubati hai,
Warna koi khushi se bewafa nahi hota.

 

unki kami se dil mera udas hai,
par mujhe to aaj bhi unke milne ki aas hai,
Zakham nahi par dard ka ehsas hai, a
isa lagta hai dil ka ek tukda aaj bhi Unke paas hai.

 

Nahi rakhte hum wafa ki umeed kisi se,
Hum ne har taraf bewafai jo payi hai,
Mat dhoond humare chehre par zakhm ke nishan,
Hum ne har chot dil par khai hai.

 

Koi kar le tujhe kitna bhi pyar,
Lekin un sab ke pyar se mera pyar saccha hoga,
Agar yakeen na aaye to dekh lena khidki se,
Teri baarat se accha mera zanaza hoga.

 

Mohabbat sikha kar juda ho gaye,
Na socha na samjha khafa ho gaye,
Duniya mein kisko hum apna kahe,
Agar tum hi bewafa ho gaye.

 

Mere Dil Ka Dard Kisne Dikha Hai,
Mujhe Bas Khuda Ne Tarapte Dekha Hai,
Hum Tanhai Me Baithe Rote Hai,
Logo Ne Hume Mehfil Me Haste Dekha Hai.

 

Kaha Tha Mat Kar Itni Mohabbat,
Aye Dil Pyar Ka Dard Tu Seh Nahi Payega,
Toot Jayega Kisi Apne Ke Haaton Se,
Kis Ne Tooda Yeh Kisi Se Keh Bhi Nahi Payega.

 

Takdir Ke aaine Me meri Tasvir Kho Gayi,
Aaj Hamesha ke Liye meri Rooh So gayi,
Mohabbat karke kya paya Maine,
Wo kal meri thi aaj kisi or ki ho gayi.

 

Jism ki chah mein deewane badnam hote h,
Jism ki rah mein deewane nakam hote h,
jin pe lutadi jindagi aaj wahi log,
mere sar pe bewafai ka iljam dete h.

 

Mai To Chup Chup Ke Tanha Ro Lunga,
Ab Dil Ka Dard Kisi Se Na Bolunga,
Mujhe Neend To Aati Nahi Raaton Ko,
Jab Rukegi Dil Ki Dhadkan,
to Araam Se So Lunga.

 

Mohabbat ki duniya mein aakar to dekho,
Kisi se dil laga kar to dekho,
Samjh jaoge ki dard kya hota hai,
Kabhi ishq mein thokar khakar to dekho.

 

Soctha hoon in sagar ki lehro ko dekhkar,
Kyun ye kinare se takrakar laut jaati hai,
Karti hai kinare se bewafai ya,
Sagar ke sath wafa nibhati hai

 

Zindagi itni mushqil na hoti,
Agar tumse mohabbat na ki hoti,
Hum iss tarah se barbaad na hote,
Agar dilruba tu bewafa na hoti.

 

कैसे बयां करू अलफ़ाज़ नहीं है
दर्द का तुझे मेरे अहसास नहीं है
पूछते हो मुझसे क्या दर्द है
मुझे दर्द ये है की तू मेरे पास नहीं है

 

तेरी दोस्ती ने दिया शकुन इतना की तेरे
बाद कोई अच्छा भी न लगे
तुझे करनी है बेवफाई तो इस क़दर करना
की तेरे बाद कोई बेवफा भी न लगे

 

दर्द इतना था ज़िंदगी में कि धड़कन साथ देने से घबरा गयी!
आंखें बंद थी किसी कि याद में और मौत धोखा खा गयी!

 

धोखा मिला जब प्यार में ज़िन्दगी में
उदासी छा गई,
सोचा था छोड़ देंगे इस राह को
कम्बख़त मोहल्ले में दूसरी आ गई

 

अभी सूरज नहीं डूबा ज़रा शाम होने दो
मैं खुद लौट जाउँगा मुझे नाकाम तो होने दो
मुझे बदनाम करने का बहाना ढूंढ़ता है ज़माना
मैं खुद हो जाऊंगा बदनाम पहले मेरा नाम तो होने दो

 

दिल किसी से तब ही लगाना जब दिलो को परखना सिख लो
हर एक चेहरे की फितरत में वफादारी नहीं होती

 

महसूस कर रहे है तेरी लापरवाहियां कुछ दिनों से
अगर हम बदल गए तो मनाना तेरे बस की बात नहीं

 

इन आँखों में आँसू आये न होते अगर वो पीछे से मुस्कुराये न होते
उनके जाने के बाद बस यही गम रहेगा
कि काश वो हमारी ज़िन्दगी में आये न होते

 

जो मेरा था वो मेरा हो न पाया आँखों में आँसू भरे थे पर मैं रो न पाया
एक दिन उन्होंने कहा कि हम मिलेंगे ख्वाब में
पर मेरी बदकिस्मती तो देखिये उस रात मैं सो नहीं पाया

Latest Shayari पाने के लिए हमारे Facebook page को like करे. अगर आपको Pyar me dhoka shayari || pyar me dhoka shayari in hindi पसंद आये तो इसे अपनी प्रियजनों को शेयर करे. और हमें comment box में comment करके

About the author

admin

Leave a Comment