Breakup Shayari

Bewafa Shayari || Bewafa Shayari Hindi and English

Bewafa Shayari
Written by admin

bewafa shayari – जब हम किसी से मोहब्बत करने लग जाए और वो हमसे बेवफ़ाई करने लगे तो ये दिल क्या कहता है सुनिए जरा, प्यार वो हमसे बेपनाह कर गए , फिर ज़िन्दगी में हमको तन्हा कर गए … चाहत थी उनके प्यार में फना हो जाने की , पर वो लौट कर आने को मना कर गए । मोहब्बत जब लौट कर आने से मना कर दे , तो तन्हा रहना बड़ा मुश्किल हो जाता है । उस मुश्किल के पलों में जो यादें होती है , मेहबूब की बातें होती है , इन आंखों में आसूं नजर आए देखे ना होते तो वो पीछे मुड कर मुस्कुराए ना होते , उनके जाने के बाद बस यही गम रहा कि काश वो हमारी ज़िंदगी में आए ना होते ।

 

Bewafa Shayari

 

किसी का दिल इतना भी मत दुखाओ कि…
वो खुदा के सामने तुम्हारा नाम लेकर रो पड़े”

 

हालात कह रहे है अब वो याद नही करेंगे
ओर उम्मीद कह रही है थोड़ा और इंतजार कर।

 

“नाराजगी चाहे कितनी भी क्यों ना हो,
पर तुझे छोड़ देने का ख्याल हम आज भी नहीं रखते”

 

“मुझे तुझ से नही नही तेरे अंदर बैठे रब से मोहब्बत है,
तुम तो बस एक ज़रिया हो मेरे इबादत का”

 

“जिंदगी में अक्सर कुछ लोग ऐसे भी मिल जाते हैं,
जिनको सिर्फ चाहा जा सकता है पाया नही..
क्यूँ के वो किसी ओर की किस्मत में होते है।”

 

“बुरा तो तब लगता है, जब हम एक ही इंसान से,
बात करना चाहते हो और वो हमे इग्नोर करता है।”

 

“कौन कहता है कि सिर्फ नफरतों मे ही दर्द होता है,
कभी कभी बेंपनाह मुहब्बत भी बहुत दर्द देती है।”

 

“दिल टूटा है संभलने मे कुछ, वक़्त तो लगेगा साहब,
हर चीज इश्क़ तो नहीं, की एक पल में हो जाए।”

 

“अजीब सी थी वो, मुझे बदल कर खुद बदल गई”

 

“प्यार किया तुझको दिलोजान से,
इस दिल में तुमको इस कदर बसा लिया,
भुला ना पाया है ये दिल तुझको आज तक,
लेकिन तुमने तो इसे दुख के आंसू रुला दिया।”

 

“अब मेरे हाल चाल नहीं पूछते हो तो क्या हुआ
कल एक एक से पूछोगे की उसे हुआ क्या था”

 

“हमें देख कर जब उसने मुँह मोड़ लिया,
एक तसल्ली हो गयी चलो पहचानते तो हैं।”

 

“मेरी कोशिश हमेशा से ही नाकाम रही
पहले तुझे पाने की अब तुझे भुलाने की।”

 

“झुकी हुई पलकों से उनका दीदार किया,
सब कुछ भुला के उनका इंतज़ार किया,
वो जान ही न पाई जजबात मेरे,
जिसे दुनियाँ में मैंने सबसे ज्यादा प्यार किया.”

 

“मैं क्यों पुकारू उन्हें की लौट आओ
क्या उन्हें खबर नही है के
उनके सिवा कोई नही है मेरा।”

 

“जितना बदल सकते थे बदल लिया खुद को..!
अब जिसको शिकायत हो वो अपना रास्ता बदल ले

 

“अब तो हर रोज आपसे मिलने को जी करता है
कुछ सुनने और सुनाने को जी करता है और
आपके मनाने का अंदाज कुछ ऐसा है की
एक बार फिर से रूठ जाने को जी करता है”

 

“निकाल दिया उसने अपनी ज़िन्दगी से भीगे कागज की तरह,
ना लिखने के काबिल छोडा ना जलाने के”

 

“कितने अजीब है जमाने के लोग खिलौना छोड़ कर जज्बातों से खेलते है।”

 

“ये जो तुम्हारी याद है ना बस, यही एक मेरी जायदाद है…!!!”

 

“दर्द दे कर इश्क़ ने हमे रुला दिया,
जिस पर मरते थे उसने ही हमे भुला दिया,
हम तो उनकी यादों में ही जी लेते थे,
मगर उन्होने तो यादों में ही ज़हेर मिला दिया”

 

“किसकी पनाह म तुझे गुजारे ए ज़िन्दगी,
अब तो रास्तों ने भी कह दिया है, घर क्यों नहीं जाते।”

 

“ना चाहते हुए भी छोड़ना पड़ता है
साथ कभी कभी,
कुछ मजबूरियां मुहब्बत से
भी ज्यादा गहरी होती है।”

 

Bewafa Shayari Hindi

 

सोचा न था वो शख्स भी इतना जल्दी साथ छोड़ जाएगाजो
मुझे उदास देखकर कहता था.. मैं हूँ ना।”

 

“बदल जाते है वह लोग वक़्त की तरह,
जिन्हें हद से ज्यादा वक़्त दिया जाए।”

 

“हमने सोचा था की बताएंगे,
सब दुःख दर्द तुमको।
पर तुमने तो इतना भी न
पूछा की खामोश क्यों हो!”

 

“कुछ तन्हाईयां बेवजह नहीं होती,
कुछ दर्द आवाज़ छीन लिया करते हैं।”

 

“ना तो अनपढ़ रहे न ही काबिल हुऐ हम खामखा
ऐ इश्क तेरे स्कूल में दाखिल हुए.”

 

“ये जो हालात है, यकीनन एक दिन सुधर जाएंगे,
पर अफसोस के कुछ लोग दिल से उतर जाएंगे।”

 

“वो सिर्फ मोहब्बत नही जमाना थी मेरा,
मैं उस से कुछ छुपाता ही नही था…!!!”

 

“इतनी हिम्मत तो नहीं मुझमे की दुनिया से छीन लू तुझे
लेकिन तुझे मेरे दिल से कोई निकाले
इतना हक़ तो मैने खुद को भी नहीं दिया”

 

“कितना भी खुश रहने की कोशिश कर लो,
जब कोई याद आता है तो बहुत रुलाता है।”

 

“बड़ा गजब किरदार है मोहब्बत का,
अधूरी हो सकती है मगर खत्म नहीं।”

 

“कुछ गीले शिकवे हो तो दूर कर लेने चाहिए,
खामोशियां अच्छी नहीं होती रिश्तों के बीच।”

 

“ख्वाब बोये थे और अकेलापन काटा है,
इस मोहब्बत में यारों बहुत घाटा है।”

 

“तुझे शिकायत है की मुझे बदल दिया वक़्त ने
कभी खुद से भी सवाल कर क्या तू वही है”

 

मुझे बहुत प्यारी है, तुम्हारी दी हुई हर एक निशानी,
चाहे वो मेरे दिल का दर्द हो या मेरी आँखों का पानी।

 

“अरमान था तेरे साथ जिंदगी बिताने का,
शिकवा है खुद के खामोश रह जाने का,
दीवानगी इस से बढकर और क्या होगी,
आज भी इंतजार है तेरे आने का”

 

“कभी रो लेने दो कंधे पर सर रखकर मुझे,
की दर्द का बवंडर अब संभाला नहीं जाता,
कब तक छुपाकर रखे आंखो म इसे,
की आंसुओ का समंदर अब संभाला नहीं जाता।”

 

“मत रहो हमसे इतना दूर के अपने फैसले पर अफसोस हो जाए,
कल को शायद ऐसी मुलाकात हो हमारी,
आप लिपटकर रोए और हम खामोश हो जाए।”

 

“आंसुओं की बूँदें हैं या आँखों की नमी है,
न ऊपर आसमां है न नीचे ज़मी है,
यह कैसा मोड़ है ज़िन्दगी का,
उसी की ज़रूरत है और उसी की कमी है।”

 

“दर्द महसूस भी होता है, दिल आज भी तड़पता है
तेरी एक झलक के लिए दिल आज भी तरसता है”

 

“उसकी दर्द भरी आँखों ने जिस जगह कहा था “अलविदा”
आज भी वही खड़ा है दिल उसके आने के इंतज़ार में..!!”

 

Bewafa Shayari in Hindi

 

अगर मोहब्बत की हद नहीं कोई,
तो दर्द का हिसाब क्यूँ रखूं।

 

नसीहत अच्छी देती है दुनिया,
अगर दर्द किसी ग़ैर का हो।

 

दिलजलों से दिल्लगी अच्छी नहीं,
रोने वालों से हँसी अच्छी नहीं।

 

हाल पूछा न खैरियत पूछी,
आज भी उसने हैसियत पूछी।

 

मान लेता हूँ तेरे वादे को,
भूल जाता हूँ मैं कि तू है वही।

 

खामोशियाँ कर देतीं बयान तो अलग बात है,
कुछ दर्द हैं जो लफ़्ज़ों में उतारे नहीं जाते।

 

आँखों में उमड़ आता है बादल बन कर,
दर्द एहसास को बंजर नहीं रहने देता।

 

मुझको ढूँढ़ लेता है हर रोज़ नए बहाने से,
दर्द हो गया है वाकिफ मेरे हर ठिकाने से।

 

हवा से लिपटी हुयी सिसकियों से लगता है,
मेरी कहानी किसी और ने भी दोहराई है।

 

अब इस से ज्यादा और क्या नरमी बरतूं,
दिल के ज़ख्मों को छुया है तेरे गालों की तरह।

 

आईना आज फिर रिश्वत लेता पकड़ा गया,
दिल में था दर्द चेहरा हँसता हुआ पकड़ा गया।

 

बदले तो नहीं हैं वो दिल-ओ-जान के क़रीने,
आँखों की जलन दिल की चुभन अब भी वही है।

 

रोज़ पिलाता हूँ एक ज़हर का प्याला उसे,
एक दर्द जो दिल में है मरता ही नहीं है।

 

दर्द मोहब्बत का ऐ दोस्त बहुत खूब होगा,
न चुभेगा.. न दिखेगा.. बस महसूस होगा।

 

दर्द में भी ये लब मुस्कुरा जाते हैं,
बीते लम्हे हमें जब भी याद आते है।

 

दर्द को मुस्कराकर सहना क्या सीख लिया,
सब ने सोच लिया मुझे तकलीफ़ नहीं होती।

 

मेरे तो दर्द भी औरों के काम आते हैं,
मैं रो पडूँ तो कई लोग मुस्कराते है।

 

भीगी मिट्टी की महक एहसास बढ़ा देती है,
दर्द बरसात की बूँदों में बसा करता है।

 

हमदर्दियाँ भी मुझे काटने लगती हैं अब,
यूँ मुझसे मेरा मिजाज़ ना पूछा करे कोई।

 

लोग मुन्तज़िर ही रहे कि हमें टूटा हुआ देखें,
और हम थे कि दर्द सहते-सहते पत्थर के हो गए।

 

पास जब तक वो रहे दर्द थमा रहता है,
फैलता जाता है फिर आँख के काजल की तरह।

 

Bewafa Shayari 2021

 

जाने-तन्हा पे गुजर जायें हजारो सदमें,
आँख में अश्क भी आयें ये जरूरी तो नहीं।

 

दर्द का मेरे यकीं आप करें या ना करें,
इल्तिजा है कि इस राज़ का चर्चा ना करें।

 

शीशा टूटे और बिखर जाये वो बेहतर है,
दरारें ना जीने देती हैं ना मरने देती हैं।

 

तकलीफ ये नहीं कि तुम्हें अज़ीज़ कोई और है,
दर्द तब हुआ जब हम नजरंदाज किए गए।

 

अपना कोई मिल जाता तो हम फूट के रो लेते,
यहाँ सब गैर हैं तो हँस के गुजर जायेगी।

 

मेरे आँसुओं के दाम तुम चुका नहीं पाओगे,
मोहब्बत न ले सके तो दर्द क्या खरीदोगे।

 

तोड़ दिए मैंने घर के आईने सभी,
प्यार में हारे हुए लोग मुझसे देखे नहीं जाते।

 

वक़्त ख़ुशी से काटने का मशवरा देते हुये,
रो पड़ा वो ख़ुद ही मुझे हौंसला देते हुये ।

 

ज़ख्म बहुत हैं फिर भी मेरा हौसला तो देख,
तू हँस दिया तो मैं भी तेरे साथ हँस दिया।

 

अब तो दामन-ए-दिल छोड़ दो बेकार उमीदों,
बहुत दर्द सह लिए मैंने बहुत दिन जी लिया मैंने।

 

तुझसे पहले भी कई जख्म थे सीने में मगर,
अब के वह दर्द है दिल में कि रगें टूटती हैं।

 

मुझ पर सितम ढहा गए मेरी ही ग़ज़ल के शेर,
पढ़-पढ़ के खो रहे हैं वो गैर के ख्याल में।

 

आज उस ने एक दर्द दिया तो मुझे याद आया,
हमने ही दुआओं में उसके सारे दर्द माँगे थे।

 

पर्दा गिरते ही खत्म हो जाते हैं तमाशे सारे,
खूब रोते हैं फिर औरों को हँसाने वाले।

 

किया है बर्दाश्त तेरा हर दर्द इसी आस के साथ,
कि खुदा नूर भी बरसाता है आज़माइशों के बाद।

 

और भी कर देता है मेरे दर्द में इज़ाफ़ा,
तेरे रहते हुए गैरों का दिलासा देना।

 

सब सो गए अपना दर्द अपनों को सुना के,
कोई होता मेरा तो मुझे भी नींद आ जाती।

 

विसाल, हिज्र, वफ़ा, फ़िक्र, दर्द, मजबूरी,
जरा सी उम्र में कितने ज़माने देखे हैं।

 

दर्द कब मोहताज़ होता है लफ्जों का,
दो बूंद आँसू चाहिए बयाँ करने के लिये।

 

दुरुस्त कर ही लिया मैंने नजरिया अपना,
कि दर्द न हो तो मोहब्बत मजाक लगती है।

 

New Bewafa Shayari

 

रहा न दिल में वो बेदर्द और दर्द रहा,
मुक़ीम कौन हुआ है मुक़ाम किसका था।

 

तरतीब-ए-सितम का भी सलीक़ा था उसे,
पहले पागल कर दिया फिर मुझे पत्थर मारे।

 

झूठी हँसी से जख्म और बढ़ता गया,
इससे बेहतर था खुलकर रो लिए होते।

 

दिल के ज़ख्मों को हवा लगती है,
साँस लेना भी यहाँ आसान नहीं है।

 

फैसला ये मेरे यार बहुत मुश्किल है,
तेरे ज़ुल्म सहें या कि फ़ना हो जाएँ।

 

मेरी हर आह को वाह मिली है यहाँ.
कौन कहता है दर्द बिकता नहीं है।

 

एक फ़साना सुन गए एक कह गए,
मैं जो रोया तो मुस्कुराकर रह गए।

 

फिर कोई सवाल सुलगता है रात भर,
फिर कोई जवाब सिसकता ही रह गया।

 

उससे पूछो अज़ाब रिश्तों का,
जिसका साथी सफ़र में बिछड़ा है।

 

मेरी फितरत ही कुछ ऐसी है कि,
दर्द सहने का लुत्फ़ उठाता हूँ मैं।

 

मुझको तो दर्द-ए-दिल का मज़ा याद आ गया,
तुम क्यों हुए उदास तुम्हें क्या याद आ गया?
कहने को जिंदगी थी बहुत मुख्तसर मगर,
कुछ यूँ बसर हुई कि खुदा याद आ गया।

 

कैसे बयान करें आलम दिल की बेबसी का,
वो क्या समझे दर्द आँखों की इस नमी का,
उनके चाहने वाले इतने हो गए हैं अब कि,
उन्हे जब एहसास ही नहीं हमारी कमी का।

 

दर्द के दामन में चाहत के कमल खिलते हैं,
अश्क की लकीर पर यादों के कदम चलते हैं,
रेंगते ख्यालों में नजर आती हैं मंजिलें,
जब भी निगाहों में ख्वाबों के दिए जलते हैं।

 

Bewafa Shayari english

 

Trust is worth it
Cheating becomes equally expensive.

 

You did not understand and did not want to understand,
What did we want from you “except you”

 

We went out in search of peace
The buyer also gave pain and took heart too.

 

Ok change you, but remember that
If we change, then you will keep changing your eyes.

 

My heart is polished by the noble intentions of all,
Somebody’s infidelity someone’s false promises.

 

God asked what punishment should I give to that infidel,
The heart said that love should be made to him as well.

 

This was his last alphabet on the go,
It is better to die if you can live.

 

Will find someone or someone who wants to break up,
Now the city of the city can not be unfaithful.

 

Close your eyes, I will come with you
Aks looking at you and telling me no betrayal.

 

Not every relationship ends with infidelity
Some relationships also have to be broken for someone’s happiness

 

Do not let the tears of happiness stop you. Do not let tears of gum out.
This life will stop when it is not known.
Never give this lovely railway.

 

What was the writing on the waves of water,
God knows what he was writing,
He may have also got hate in love,
That’s why everyone was probably writing Bewafa !!

 

Found everything except digging,
Loved life very much except in Russia,
I will not even realize my wish,
He liked her every act except infidelity !!

 

His life is pain-a-loneliness,
Why has death come to my eyes,
People say that love is worshiped,
Why is Q so beautiful in prayer !!

 

Did you know love would break your heart,
The heart will turn full of love,
Hey Bewafa,
Whichever heart you want to see,
Will never be able to breathe peace !!

 

Cried heart but smiled with lips,
Just like that, we were able to take care of someone,
He could not give us a moment of his love,
And we lost our lives for them !!

 

Realize before you get connected,
Listen to me before you listen
Before forgetting to think this,
She cried a lot before smiling her eyes !!

 

Do not want anything from your love shop,
Adulteration in everything is infidelity …… !!!

 

This is a new phase of their love,
Where I was yesterday is someone else today.

 

Those who used to say that you are my love,
They were stunned and watched.

 

What is the reward of giving love,
They would have seen it punished.
I think how innocent he was,
Those who became unfaithful would have seen.

 

Heartless sad heart
In memory of some infidel,
She is happy in her world
Your everything is desolate

 

She went on to say that she will come back,
What would I have done if I had not waited
She was also lying very well,
What would I have done if I had not done so?

 

Pain is the reward for my love,
The jam came right up to the lips,
I am unfaithful, he told everyone,
Just right, my name came on his lips.

 

We do not know how to love
That’s why we lost the game of love,
He loved our life,
This is why Sayed killed us alive!

 

What will that unfaithfulness take our Imteha,
If you look at my eyes, I will take my eyes off,
Do not let her burn the lamp on my grave,
She is foolish, friends .. she will burn her hand.

 

Latest Shayari पाने के लिए हमारे Facebook page को like करे. अगर आपको Bewafa Shayari || Bewafa Shayari in Hindi || Bewafa Shayari || Bewafa Shayari 2021 पसंद आये तो इसे अपनी प्रियजनों को शेयर करे. और हमें comment box में comment करे

About the author

admin

Leave a Comment